BJP की टिकट पर सीता सोरेन की बेटी जयश्री सोरेन लड़ सकती है विधायकी का चुनाव…

, , ,

Share:

Ranchi : झारखंड भाजपा के सहप्रभारी हिमंता विस्वा सरमा के झारखंड दौरे के बाद से ही सीता सोरेन की बड़ी बेटी जयश्री अचानक चर्चा में आ गयी हैं. बीते 29 जून को एक दिवसीय दौरे पर रांची पहुंचे हिमंता ने सीता सोरेन के घर जाकर उनकी बेटियों संग एक तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की.

जिसके बाद तो सीता सोरेन की बेटी जयश्री के चुनाव लड़ने की चर्चा जोर पकड़ने लगी. कहा जाने लगा कि आगामी विधानसभा चुनाव में जयश्री सोरेन जामा से भाजपा की टिकट पर विधायकी का चुनाव लड़ेंगी.

सवाल है कि क्या सीता सोरेन की बड़ी बेटी जयश्री सोरेन विधानसभा चुनाव में वाकई अपना किस्मत आजमाने वाली है? क्या मां की हार का बदला अब सीता सोरेन की बड़ी बेटी जयश्री सोरेन विधानसभा चुनाव लड़कर लेंगी?

क्या यह सच है सीता सोरेन की बेटी जयश्री को जामा से टिकट देने के लिए भाजपा राजी हो गई. ऐसे में सबलोग यह जानना चाहते हैं कि सीता सोरेन की बड़ी बेटी जयश्री आखिर कितनी पढ़ी लिखी हैं, वे कहां नौकरी करती हैं, पॉलिटिक्स में वे क्यों आना चाहती है.

कौन है जयश्री सोरेन

दिवंग्त दुर्गा सोरेन और सीता सोरेन की बेटी है जयश्री सोरेन. सीता सोरेन की तीन बेटियों में जयश्री सबसे बड़ी बेटी है. जयश्री ने वकालत की पढ़ाई की है. ओर वे राजनीति में भी काफी दिलचस्पी रखती है.

दुर्गा सोरेन सेना की अध्यक्ष है जयश्री

जयश्री सोरेन डीएसएस यानी दुर्गा सोरेन सेना की अध्यक्ष है. 15 अक्टूबर 2021 को सीता सोरेन की दो बेटियां जयश्री और राजश्री सोरेन ने मिलकर अपने पिता के नाम पर दुर्गा सोरेन सेना का गठन किया था. उस दौरान उन्होंने कहा था उनका संगठन गैर राजनीतिक मंच होगा.

जिसका उद्देश्य केवल राज्य में भ्रष्टाचार, विस्थापन, जमीन की लूट समेत अन्य मसलों पर संघर्ष करना है. जिसके बाद से जयश्री कई राजनीतिक मंचों पर भी एक्टिव रही थी.
हालांकि वर्तमान समय में मां सीता सोरेन के भाजपा में जाने के बाद से दुर्गा सोरेन सेना को लेकर जयश्री और राजश्री उतनी एक्टिव नही दिखाई पड़ती है.

सीता सोरेन ने पहले ही कर लिया था फैसला

सोरेन परिवार की बड़ी बहू व झामुमो से तीन बार की विधायक रही सीता सोरेन ने झामुमो छोड़ने से पहले ही जयश्री सोरेन के लिए जामा सीट से चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया था. उन्होने पार्टी छोड़ने से पहले यह भी कहा था कि आने वाले समय में उनकी बेटियां राजनीति में प्रवेश कर सकती है.

सीता सोरेन

हालांकि दुमका से चुनाव हारने के बाद बीते 18 जून को सीता सोरेन ने प्रेस कांफ्रेस कर पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह एलान कर दिया था कि उनकी बेटी जयश्री सोरेन इस बार जामा विधानसभा से चुनाव लड़ने वाली है.

लोकसभा चुनाव में अपनी मां के लिए किया जनसंर्मक अभियान

लोकसभा चुनाव में सीता सोरेन की बेटियों की सक्रियता काफी बेहतर रही थी. बता दें कि दुमका सीट से सीता सोरेन को प्रत्याशी बनाये जाने के बाद से सीता सोरेन की तीनों बेटियां जयश्री, राजश्री और विजयाश्री ने अपनी मां के लिए जोरो-शोरो से चुनावी जनसंमर्क अभियान चलाया था.

उस दौरान दुमका लोकसभा के हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर अपनी मां के लिए लोगों से वोट की अपील भी कर रही थी. और शायद बीजेपी लोकसभा चुनाव के दौरान उनकी सक्रियता देख ही इस बार टिकट देने की तैयारी कर रही है.

जामा से चुनाव लड़ सकती है जयश्री सोरेन

जयश्री सोरेन के विधानसभा चुनाव लड़ने वाली बात पर तब चर्चा तेज हो गई जब बीते शनिवार को असम के मुख्यमंत्री व प्रदेश सह चुनाव प्रभारी हिमंता विस्वा सरमा एक दिवसीय दौरे पर रांची पहुंचे थे.

रांची पहुंचते ही सबसे पहले हिमंता विस्वा सरमा सीता सोरेन से मिलने उनके आवास जा पहुंचे. हिमंता ने सीता सोरेन से मुलाकात कर और मुद्दों पर भी बातचीत की. उस दौरान हिमंता विस्वा सरमा सीता सोरेन की बेटियों से भी मिले.

जिसके बाद जयश्री ने अपने सोशल मीडिया एक्स पर ट्वीट कर लिखा था आज हमारे घर पर असम के आदरणीय मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा का आगमन हुआ.

https://x.com/jayshreesorenn/status/1807004216344617344

उनके साथ कुछ समय बिताने और उनसे प्रेरणादायक बातें सुनने का अवसर मिला. उन्होंने हमें आशीर्वाद दिया और हमारे जीवन में सफल होने की प्रेरणा दी. उनके विचार और मार्गदर्शन हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं.

उनके आशीर्वाद से हम और भी ऊर्जावान और प्रेरित महसूस कर रहे हैं. इस यादगार मुलाकात के लिए हम हृदय से आभारी है. जिसके बाद से ये चर्चाएं ओर तेज हो गई कि इस बार विधानसभा चुनाव में बीजेपी जयश्री सोरेन को टिकट दे सकती है.

जामा में सक्रिय हो गई है जयश्री सोरेन 

जामा से विधानसभा चुनाव लड़ने वाली चर्चा के बीच अब जयश्री सोरेन जामा विधानसभा में सक्रिय हो गई है. जयश्री ने अपने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट शेयर किया है जिसमें आप देख सकते है वो  जामा की जनता से मिल रही है. उनकी बीच जाकर संवाद भी कर रही है. जयश्री ने अपने पोस्ट पर लिखा है.

https://x.com/jayshreesorenn/status/1808376188785856831

जामा, जो हमारे प्यारे दुमका जिले का एक अभिन्न अंग है, मेरे लिए सिर्फ एक स्थान नहीं है, बल्कि मेरे दिल के बहुत करीब है. इसका मुख्य कारण यह है कि मेरे पिता ने यहाँ पर लंबे समय तक सेवा की थी और उनकी मेहनत और समर्पण का यह स्थान साक्षी है.

मेरे पिता ने जब यहाँ पर काम किया, तो उन्होंने इस क्षेत्र के विकास और लोगों की भलाई के लिए अपने जीवन के बहुमूल्य वर्ष समर्पित कर दिए। उनकी ईमानदारी, कड़ी मेहनत और सेवा भावना ने इस स्थान के प्रति मेरी भावनात्मक लगाव को और भी मजबूत बना दिया.

जामा में बिताए गए उनके समय ने न केवल यहाँ की भौतिक संरचनाओं में योगदान दिया, बल्कि यहाँ के लोगों के दिलों में भी उनकी एक विशेष जगह बनाई। जब मैं इस पावन भूमि पर कदम रखती हूँ, तो मुझे मेरे पिता की यादें ताज़ा हो जाती हैं. उनका समर्पण और उनके द्वारा किए गए कार्य आज भी यहाँ की हवाओं में घुली हुई हैं.

उनकी हर एक कोशिश, हर एक प्रयास आज भी यहाँ की मिट्टी में जीवित हैं. यहाँ की सड़कों, भवनों और यहाँ के लोगों की आंखों में मुझे मेरे पिता का प्रतिबिंब दिखता है.

जामा के लोगों की सादगी, उनकी मेहनत और उनके स्वागत-भाव ने मेरे दिल में एक गहरी छाप छोड़ी है. यह स्थान मेरे लिए एक भावनात्मक और ऐतिहासिक महत्व रखता है. यहाँ की संस्कृति, यहाँ की परंपराएँ और यहाँ के लोगों का प्रेम मेरे जीवन को समृद्ध बनाते हैं.

मैं अपने पिता को हर दिन श्रद्धांजलि अर्पित करती हूँ और जमा़ के सभी लोगों का आभार व्यक्त करती हूँ, जिन्होंने मेरे पिता के कार्यकाल के दौरान उनका समर्थन किया और आज भी उनकी यादों को संजोए रखा है। आपका यह स्नेह और समर्थन ही हमारे परिवार की सबसे बड़ी धरोहर है.

लोकसभा चुनाव से पहले भी चर्चा में आई थी जयश्री सोरेन

झामुमो व सोरेन परिवार से बगावत करने के बाद सीता सोरेन ने भाजपा का दामन थामा, और कुछ दिनों के बाद अखबारों के पन्नो में सोरेन परिवार की आपसी कलह की खबरें सामने आने लगी. ये चर्चाएं तब हो रही थी जब हेमंत सोरेन कथित जमीन घोटाले मामले में होटवार जेल में बंद थे.

जयश्री सोरेन ने हेमंत सोरेन और कल्पना सोरेन को लेकर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि अगर हमने बोलना शुरू किया तो लोगों के मुंह बंद हो जाएंगे. जयश्री सोरेन सुर्खियों में तब आई थी, जब सीता सोरेन भाजपा में शामिल हुई.

उस दौरान कहा जा रहा था कि बीजेपी दुमका लोकसभा सीट से जयश्री सोरेन को टिकट दे सकती है. हालांकि बीजेपी ने जयश्री सोरेन को टिकट न देकर सीता सोरेन को टिकट दिया.

पीएम मोदी से भी मिल चुकी है जयश्री सोरेन

लोकसभा चुनाव के दौरान सीता सोरेन के अलावे उनकी तीनों बेटियां उनके साथ जनसंर्मक अभियान में शामिल होती थी. दुमका लोकसभा के हर क्षेत्र में जयश्री, राजश्री और विजयाश्री की सक्रियता देखी गई.

 

इनके अलावे कई बड़े सभाओं मे भी जयश्री सोरेन शिरकत करते हुई दिखाई दे रही थी. उस दौरान जयश्री सोरेन की एक तस्वीर भी खूब चर्चा में आई थी.

जिसमें जयश्री सोरेन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करते हुए नजर आ रही थी. इसके अवाले भी बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं से मिल चुकी है.

 

Tags:

Latest Updates