सिंहभूम लोकसभा

सिंहभूम लोकसभा सीट पर कौन जीत रहा है, समझना है तो ये खबर ज़रूर पढ़ें

,

Share:

सिंहभूम लोकसभा सीट झारखंड की प्रमुख सीटों में से एक है और यह राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में से एक रहा है। पिछले तीन आम चुनावों में किसी एक पार्टी का वर्चस्व इस सीट पर नहीं रहा है।

2009 के आम चुनाव में इस सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी मधु कोड़ा ने जीत दर्ज की थी. इसके अलावा 2014 और 2019 के आम चुनाव में एक बार बीजेपी तो एक बार कांग्रेस अपना झंडा इस सीट पर लहरा चुकी है. बता दें कि, 13 मई को चौथे चरण में इस सीट पर मतदान हुए थे और इस सीट का वोटिंग प्रतिशत 66.11% रहा था. जो इस चरण में झारखंड की अन्य सीटों के मुकाबले सबसे ज्यादा था. बीजेपी ने इस बार इस सीट से पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की पत्नी गीता कोड़ा को उम्मीदवार बनाया है. गीता कोड़ा 2019 के आम चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर इस सीट से सांसद रह चुकी हैं. लेकिन चुनाव पहले उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था. गीता कोड़ा के सामने जेएमएम की जोबा मांझी है.

 2009 का चुनाव

2009 के आम चुनाव में इस सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी मधु कोड़ा ने जीत दर्ज की थी। उन्होंने कुल 2 लाख 56 हजार 827 वोट हासिल किए थे। दूसरी ओर बीजेपी को मात्र 1 लाख 56 हजार 827 वोट और कांग्रेस को 95 हजार 604 वोट ही मिल पाए। निर्दलीय प्रत्याशी मधु कोड़ा को 44.29% वोट, बीजेपी उम्मीदवार बरकुवार गराई को 28.82% वोट, और कांग्रेस प्रत्याशी बागुन संबरूई को 16.49 वोट मिले थे।

2014 का चुनाव

2014 के आम चुनाव में इस सीट पर कुल 12 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। बीजेपी ने लक्ष्मण गिलुवा और कांग्रेस ने चित्रसेन सिंकु को मैदान में उतारा था। गीता कोड़ा इस चुनाव में (जे.बी.एस.पी) जय भारत समानता पार्टी की तरफ से चुनाव मैदान में थी। इस चुनाव में बीजेपी ने भारी मतों से जीत दर्ज की थी। बीजेपी के खाते में कुल 3 लाख 31 हजार 31 वोट आए थे, तो वहीं (जे.बी.एस.पी) को 2 लाख 15 हजार 607 वोट मिले थे। कांग्रेस को मात्र 1 लाख 11 हजार 796 वोट ही मिल पाए थे। बीजेपी को कुल 38.12% वोट, जे.बी.एस.पी को 27.11% वोट और कांग्रेस को 14.06% वोट मिले थे।

2019 का चुनाव

2019 के आम चुनाव में इस सीट पर कुल 9 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। बीजेपी ने लक्ष्मण गिलुवा और कांग्रेस ने गीता कोड़ा को मैदान में उतारा था। इस चुनाव में कांग्रेस को भारी मतों से जीत मिली थी। कांग्रेस के खाते में कुल 4 लाख 18 हजार 815 वोट आए थे। तो वहीं भाजपा 3 लाख 59 हजार 660 वोट ही हासिल कर पाई थी। कांग्रेस को कुल 49.11% वोट और बीजेपी को 40.90% वोट ही मिल पाए।

सीट का सियासी इतिहास

सिंहभूम लोकसभा सीट पर साल 1952 में पहली बार लोकसभा का चुनाव हुआ था। उस चुनाव में झारखंड पार्टी के कानूराम देवगम सांसद चुने गए थे। उसके बाद कई सालों तक इस सीट पर झारखंड पार्टी का ही दबदबा रहा। 1984 में पहली बार कांग्रेस को इस सीट से जीत मिली। उस चुनाव में बागुन सुम्ब्रुई सांसद चुने गए थे। इसके साथ ही बागुन पांच बार इस सीट से सांसद रह चुके हैं।

 क्षेत्र का प्रोफाइल

सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र की कुल जनसंख्या 18 लाख 96 हजार 730 है। यहां ग्रामीण आबादी 78% और 22% शहरी आबादी आती है। साथ ही, कुल घरों की संख्या 3 लाख 83 हजार 870 है। इस क्षेत्र में अनुसूचित जाति की संख्या 4.06 प्रतिशत है। इसके अलावा अनुसूचित जनजाति की संख्या 58.72% है। क्षेत्र में सामान्य एवं अन्य वर्ग की संख्या 37.22% है। क्षेत्र में 41% हिंदू, 7% इसाई, दो प्रतिशत मुस्लिम, व 50% अन्य धर्म के लोग रहते हैं। क्षेत्र में 62 प्रतिशत साक्षरता दर है। इनमें 50 % पुरुष और 49.99 % महिलाएं आती हैं।

Tags:

Latest Updates