प्रदीप यादव

चुनाव हारने के बाद प्रदीप यादव ने क्या कहा, किस विधानसभा से मिले कितने वोट

,

Share:

प्रदीप यादव ने लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद बयान दिया है. उन्होंने कहा कि चुनाव जरूर हारे हैं, लेकिन पिछले चुनाव के मुकाबले पांच प्रतिशत वोट बढ़ा है. लेकिन परिणाम अपने पक्ष में नहीं आ पाया. उन्होंने कहा कि कहीं न कहीं हम सब से चूक हुई है. जनता का मैंडेट अपने पक्ष में रहते हुए भी हम सब चोरी को रोकने में नाकाम रहे.

प्रदीप यादव ने कहा कि भाजपा ने वोटरों को अपनी ओर करने के लिए धर्म का खेल खेला. जिसमें उन्हें थोड़ी सफलता भी मिली है. प्रदीप यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में जनबल पर धनबल भारी पड़ा, सेवा पर मेवा भारी पड़ा. इस कारण महगठबंधन के हाथों से जीत फिसल गई. सभी चीजों की गहराई से समीक्षा की जाएगी. हमसे चूक हुई है. इसकी समीक्षा की जाएगी.

गोड्डा लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी निशिकांत दुबे ने कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप यादव को एक लाख से अधिक मतों से हराकर चौथी बार सांसद बने हैं. वहीं कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप यादव की हार के बाद विधानसभावार मतों को जोड़-घटाव शुरू हो गया है. साथ ही चौक चराहों पर चर्चा शुरू हो चुकी है.

गोड्डा लोकसभा में छह विधानसभा आते हैं, जिसमें चार विधायक और मंत्री इंडिया गठबंधन के हैं, वहीं दो विधायक भाजपा के हैं. मतों का हिसाब देखें तो चार विधानसभा में भाजपा को इस लोकसभा चुनाव में ज्यादा वोट मिले हैं. वहीं एक विधानसभा में कांग्रेस को बढ़त मिली है, जबकि एक में दोनों पार्टियां लगभग बराबरी पर रही.

टोटल पोस्टल बैलेट वोट के अनुसार, निशिकांत दुबे को 4221 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 5223 मत मिले हैं. जरमुंडी विधानसभा में निशिकांत दुबे को 107082 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 62684 मत मिले हैं.

देवघर विधानसभा में निशिकांत दुबे को 153449 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 111711 मत मिले हैं.

पोड़ैयाहाट विधानसभा में निशिकांत दुबे को 101676 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 93136 मत मिले हैं.

गोड्डा विधानसभा में निशिकांत दुबे को 107698 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 90601 मत मिले हैं.

मधुपुर विधानसभा में निशिकांत दुबे को 119956 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 128833 मत मिले हैं.

महगामा विधानसभा में निशिकांत दुबे को 99018 मत मिले हैं, जबकि प्रदीप यादव को 99139 मत मिले हैं.

वहीं विधानसभा वार वोट प्रतिशत पर गौर करें तो जरमुंडी विधानसभा से भी बीजेपी को सर्वाधिक 44398 वोटों की बढ़त मिली है. जबकि जरमुंडी से ही विधायक बादल पत्रलेख हैं, जो झारखंड सरकार में कृषि मंत्री हैं.

देवघर विधानसभा में इस बार बीजेपी का वोट प्रतिशत घटा है. वहीं पोड़ैयाहाट विधानसभा से खुद कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप यादव पांच बार के विधायक हैं, लेकिन प्रदीप अपने घर में ही भाजपा से 8540 मतों से पिछड़ गए.

गोड्डा विधानसभा से बीजेपी को 17097 वोटों की बढ़त मिली है. वहीं मधुपुर से कांग्रेस को महज 8877 मत मिले हैं, जबकि महगामा से प्रदीप को महज 121 मतों की बढ़त मिली है.

हार की समीक्षा की जाएगीः प्रदीप यादव ने कहा कि निश्चित रूप से हार की समीक्षा होगी. प्रदीप यादव ने दावा किया कि पिछले चुनाव के मुकाबले 1.5 लाख ज्यादा मत हासिल किया है. उन्होंने कहा मुझे चुनाव में 591327 मत मिले हैं. प्रदीप यादव ने चुनाव के बाद जनता और गठबंधन के साथियों का धन्यवाद किया है.

Tags:

Latest Updates