सरयू राय ने हेमंत सोरेन की सरकार को लेकर किया बड़ा दावा,कहा- नहीं टिकेगी सोरेन सरकार

Share:

झारखंड में चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे हैं राजनीतिक पार्टियों की सक्रियता बढ़ती ही जा रही है. राज्य भर में पार्टियों की बैठक और महासभाओं का दौर शुरू हो गया है. इन बैठकों में पार्टियां न केवल जनता के सामने अपने काम गिनवा रही है बल्कि विपक्षी पार्टियां सत्तारुढ़ पार्टी और सीएम को लगातार घेरे में ले रही है. इसी बीच बीते कल यानी 5 नवंबर को जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक व भारतीय जनतंत्र मोर्चा के संरक्षक सरयू राय ने भारतीय जनतंत्र मोर्चा के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया. सरयू राय ने अपने संबोधन में राज्य की हेमंत सोरेन पर जमकर निशाना साधा और उन्होंने दावा किया कि आगामी दिसंबर में ही झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार गिर जाएगी.

इस सम्मेलन को सरयू राय के साथ साथ मोर्चा के केंद्रीय सचिव सोमेन दत्ता, केंद्रीय उपाध्यक्ष पीएन सिंह, धनबाद जिलाध्यक्ष उदय सिंह, पलामू जिलाध्यक्ष दिलीप पांडेय, रांची के जिलाध्यक्ष अशोक ठाकुर, आशीष शीतल मुंडा और सुशील कुमार ने भी संबोधित किया.

सरयू राय ने कहा कि सीएम का सरकार पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया है. धनबाद में आज अराजक स्थिति बनी है, जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती है. विपक्ष भी इसके खिलाफ आवाज उठाकर खतरा मोल नहीं लेना चाहता है. इस स्थिति में आखिर राज्य का भला कैसे होगा. झारखंड की हेमंत सरकार दिसंबर तक शायद ही बरकरार रहे. उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार विधिसम्मत तरीके से काम नहीं कर रही है.

सरयू राय ने सम्मेलन में झारखंड के विपक्षी दलों को सलाह देते हुए कहा कि झारखंड में विपक्षी दलों को अपनी भूमिका तय करनी होगी. विपक्ष भी भ्रष्टाचार के मुद्दों को उठाने में संकोच करेगा, तो फिर अंतर क्या रह जायेगा. अभी राज्य में कुछ ऐसी ही स्थिति बनी है. विपक्षी दल भी भ्रष्टाचार के मामले में बोलने से संकोच कर रहे हैं.

सरयू राय ने देशभर में ईडी की हो रही कार्रवाई को लेकर भी अपने विचार रखे, सरयू राय ने कहा कि लोग ईडी की मंशा पर सवाल उठाते हैं। लोग मुझसे पूछते हैं कि ईडी सिर्फ विपक्षी पार्टियों के ही खिलाफ कार्रवाई करती है। क्या ईडी पक्षपातपूर्ण तरीके से काम नहीं करती? हो सकता है कि कहीं ईडी पर पक्षपातपूर्ण रवैये का आरोप सत्य हो लेकिन क्या ईडी जिन चीजें, जिन तथ्यों, जिन दस्तावेजों को बाहर निकाल रही हैं, क्या वह भी गलत है?
झारखंड की सरकार में करप्शन काफी बढ़ गया है. जो भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहा है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. सरयू राय ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने मुख्यमंत्री को कई बार लिखित में बताया कि यहां गड़बड़ी हो रही है पर उन गड़बड़ियों को दुरुस्त करने, एक्शन लेने का टाइम मुख्यमंत्री के पास है ही नहीं. जिस मुख्यमंत्री के पास गड़बड़ियों की जांच करवा कर दोषियों को सजा देने का टाइम नहीं, उसे मुख्यमंत्री पद पर नहीं रहना चाहिए.

Tags:

Latest Updates