आयकर विभाग की गहन छापेमारी

गोड्डा में कारोबारी के ठिकानों पर पड़ा छापा , 50 लाख से अधिक कैश बरामद

Share:

गोड्डा मुख्य बाजार स्थित प्रसिद्ध कारोबारी अरुण टेकरीवाल के आवास और कपड़े के प्रतिष्ठान में आयकर विभाग की छापेमारी चल रही है। यह छापेमारी दूसरे दिन भी जारी है। छापेमारी के दौरान आयकर विभाग को 50 लाख रुपये से अधिक नकद कैश बरामद होने की सूचना मिल रही है, हालांकि इस बात की पुष्टि अधिकारियों द्वारा नहीं की गई है। लेकिन सूत्रों के अनुसार, यह राशि बरामद की गई है।

छापेमारी में शामिल अधिकारी

छापेमारी में भागलपुर रेंज के अधिकारी शामिल हैं। टीम में 6-7 आयकर अधिकारी भी शामिल हैं। 24 घंटों से लगातार चल रही छापेमारी के दौरान, टीम अरुण टेकरीवाल से जुड़े विभिन्न व्यवसायों के लेन-देन के कागजात आदि खंगाल रही है।

जांच की स्थिति

आवास और प्रतिष्ठान दोनों के अंदर आयकर विभाग की टीम जांच कर रही है। घर के बाहर टीम की गाड़ियां लगी हुई हैं और किसी के आवागमन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है।

राजनीतिक संबंध

प्रभात खबर के मुताबिक, व्यवसायी अरुण टेकरीवाल के तार ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम से जुड़े हो सकते हैं। विभाग चुनाव में प्रभाव डालने के मामले को केंद्र बिंदु में रखकर जांच की जा रही है। अरुण टेकरीवाल कपड़ा, होटल, सड़क निर्माण और पीएचडी विभाग में ठिका-पट्टा के कारोबार से जुड़े हुए हैं।

आलमगीर आलम की स्थिति

ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम को ईडी ने कमीशनखोरी मामले में गिरफ्तार कर लिया है। उनके पीएस संजीव लाल के सहयोगी जहांगीर के ठिकानों से ईडी ने 35 करोड़ रुपये की राशि जब्त की थी। आलमगीर आलम से लंबी पूछताछ के बाद ईडी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में ईडी ने संजीव लाल और जहांगीर को भी गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी मनीष रंजन भी इस मामले में शक के घेरे में हैं, और ईडी ने उनसे भी पूछताछ की है।

Tags:

Latest Updates