संविधान नहीं, घमंडिया गठबंधन और भ्रष्टाचारी खतरे में हैं – गौरव भाटिया

, ,

Share:

  • झारखंड में भ्रष्टाचारियों की तिकड़ी जनता को लूट रही है
  • जनता के  पैसे का उपयोग परिवार को आगे बढ़ाने के लिए कर रहे
  • झारखंड में सभी 14 सीट पर एनडीए की होगी जीत
  • धर्म के आधार पर आरक्षण देने की इजाजत संविधान नहीं देता

Ranchi : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने 19 मई को हरमू रोड स्थित मीडिया सेंटर में संवाददाताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड और झारखंड की जनता को हमेशा दिल में रखा। भगवान बिरसा मुंडा को आदर्श माना।

जनजातीय समाज के लिए चिंतित रहें। उसे सशक्त बनाने के लिए कई कदम उठाए। जनता ने मन बना लिया है कि नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाएंगे और वह जनता की सेवा के अपने कार्य को आगे बढ़ाएंगे। भाटिया ने कहा कि चार चरण के चुनाव संपन्न हो चुके हैं। इस चुनाव में एनडीए और भाजपा पिछले 10 वर्ष के विकास कार्य की रिपोर्ट कार्ड के आधार पर जनता से पुनः आशीर्वाद मांग रहे हैं।

जनता ने मन बना लिया है कि इस चुनाव में भाजपा 370 से अधिक सीट जीतेगी। एनडीए 400 पार होगा। उन्होंने कहा कि घमंडियां गठबंधन में भ्रष्टाचारियों की फौज है। वे एनडीए-बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने का कुंठित प्रयास कर रहे हैं। भ्रष्टाचारियों पर प्रधानमंत्री मोदी की ईमानदारी भारी पड़ रही है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में भ्रष्टाचार्यों की तिकड़ी है। कांग्रेस, झामुमो और राजद एक साथ है। भ्रष्टाचारियों की तिकड़ी क्राइम मास्टर गोगो है। ये जनता को देने नहीं लेने आए हैं। बिना जनता से लिए नहीं जाएंगे।

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कांग्रेस से सबक लिया। यही कारण है कि 10 समन देने के बाद भी ईडी के पास नहीं गए। अगर हुए भ्रष्टाचार नहीं किए हैं, तो जाकर जवाब देना चाहिए। यह जनता की कमाई है। उसे लूट कर परिवार को आगे बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। इनकी नीतियां झारखंड की जनता की विरोधी है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में भ्रष्टाचार चरम पर है। घुसपैठियों पर लगाम नहीं है। विधि व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है। राज्य सरकार ने जनजातीय समाज के लोगों की जमीन ली। इसका आवंटन जनजातीय युवाओं को करना चाहिए, ताकि वे उद्योग लगाए और आगे बढ़े। पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने जनजातीय समाज का हक छीनकर वह जमीन परिवार के सदस्य को आवंटित कर दिया।

पूर्व मंत्री आलमगीर आलम के मामले में रति भर भी शर्म कांग्रेस की नहीं बची। राहुल गांधी ने इस पर एक शब्द नहीं कहा। इस्तीफा नहीं मांगा। पूरे विश्व में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचारी परिवार लालू, सोरेन और गांधी है। लोकतंत्र के लिए चिंताजनक है। लोकतंत्र इनसे खतरा है।

आलमगीर आलम के पीए के नौकर के घर से नोटों का पहाड़ मिलता है। इस पर कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे, राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा, मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन कुछ नहीं बोलते। इनका एकमात्र मकसद है परिवार का भला करो, परिवार को आगे बढ़ाओ। जनता से मतलब नहीं है।

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि आलमगीर आलम और हेमंत सोरेन जल्द जेल से बाहर नहीं निकाल पाएंगे। उनसे जनता का एक-एक पैसा वसूला जाएगा। इस चुनाव में भ्रष्टाचार बहुत बड़ा मुद्दा है। अरविंद केजरीवाल बेशर्म नंबर वन है। उन्हें नियमित नहीं, अंतरिम जमानत मिली है।

पिछले 10 साल में प्रधानमंत्री मोदी के ऊपर एक उंगली में नहीं उठी। कोई दाग तक नहीं लगा। झारखंड की सभी 14 सीट पर एनडीए के प्रत्याशी विजयी होंगे। इस बार बीजेपी और एनडीए को देश भर में 400 से अधिक सीटें मिलेगी।

भाटिया ने कहा कि यूपीए के 10 साल के शासन में बड़े पैमाने पर घुसपैठियों को देश में घुसने दिया गया। वे देश को दीमक की तरह चाट रहे हैं। भारतीय नागरिकों का हक मार रहे हैं। वे पूरे देश की संस्कृति के लिए खतरा हैं। झारखंड में भी यही स्थिति है।

जनजातीय समाज का अभिमान और संस्कृति उनसे खतरे में पड़ गया है। वे मूल रूप को बदलने का काम कर रहे हैं। जमीन हड़प रहे हैं। पुलिस में शिकायत दर्ज करने पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

उन्होंने कहा कि भारत की संस्कृति को प्रधानमंत्री मोदी ही बचाए रख सकते हैं। भाजपा ने जनजातीय समाज की महिला को राष्ट्रपति बनाया। मोदी मंत्रिमंडल में 8 मंत्री जनजातीय समाज से हैं। 12 मंत्री दलित समाज से हैं। 28 मंत्री ओबीसी और 11 महिला मंत्री है। जनजातीय समाज को शिक्षित करने के लिए पूरे देश भर में एकलव्य मॉडल के स्कूल खोले जा रहे हैं।

संविधान खतरे में नहीं है। घमंडियां खतरे में है। भ्रष्टाचारी खतरे में हैं। भ्रष्टाचार करने वाले किसी को बख्शा नहीं जाएगा। भ्रष्टाचार करेंगे तो सलाखों के पीछे ही रहेंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में भारत विश्व की तीसरी अर्थव्यवस्था होगी। इसमें झारखंड की भी काम भूमिका होगी।

उन्होंने कहा कि 53 साल के अपरिपक्व नेता राहुल गांधी कहते हैं कि बहुसंख्यक के लिए देश में जगह नहीं है। हलाला, बहु विवाह को ठीक मानते हैं। ट्रिपल तलाक को वापस लाने की बात करते हैं।  ईपीएफओ के आंकड़े बताते हैं की प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में 18 करोड लोगों को नई नौकरी मिली।

मुद्रा योजना में 45 करोड़ लोगों ने लोन लेकर अपना व्यवसाय शुरू किया। 1 साल में 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी गई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में राजस्थान में सबसे अधिक 30% बेरोजगारी दर थी। यही बीजेपी शासित यूपी में यह दो पर्सेंट थी।

उन्होंने कहा कि यूपीए के 10 साल के कार्यकाल में महंगाई दर डबल डिजिट से नीचे कभी नहीं आई। प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में यह कभी डबल डिजिट तक नहीं गई। कोरोना कल में भी महंगाई दर पर लगाम रहा। उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर आरक्षण देने की इजाजत संविधान नहीं देता है। भाजपा संविधान का पालन पूरी तरह करने के लिए संकल्पित है।

इस अवसर पर मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक, प्रदेश प्रवक्ता अविनेश कुमार सिंह, राफिया नाज भी मौजूद थे.

Tags:

Latest Updates