सीता सोरेन

ऐसा क्या हो गया जो सीता सोरेन को कहना पड़ा, दुमका में चुनाव कैंसल हो जाना चाहिए ?

,

Share:

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में झारखंड की तीन लोकसभा सीटों गोड्डा, दुमका और राजमहल के लिए वोटिंग जारी है। झारखंड में सुबह 9 बजे तक 12.15% वोटिंग हुई। जबकि दुमका 12.31, गोड्डा में 11.46 और राजमहल-12.82% वोटिंग हुई।

वहीं दुमका के धरमपुर बूथ संख्या 141 पर EVM खराब होने की वजह से एक घंटे बाद मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई।

इसी बीच बीजेपी उम्मीदवार सीता सोरेन ने दुमका डीसी क्लब में धीमी वोटिंग का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था खराब है। लाइव हिंदुस्तान के मुताबिक, उन्होंने आरोप लगाया की जिला प्रशासन कोई मदद नहीं कर रहा है। यहां चुनाव कैंसिल हो जानी चाहिए।

दुमका (अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित) संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में कुल 15,91,061 मतदाता मतदान में हिस्सा लेंगे। इनमें 7,99,045 पुरुष, 7,92,010 महिला और 6 थर्ड जेंडर के मतदाता हैं। इस संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में कुल 1891 मतदान केंद्र हैं। इनमें से 105 शहरी क्षेत्र में और 1786 बूथ ग्रामीण क्षेत्र में हैं। इस निर्वाचन क्षेत्र में 70 मतदान केंद्र पूरी तरह महिलाओं के द्वारा संचालित होंगे। इसी तरह 1 बूथ दिव्यांगों द्वारा और 3 बूथ युवाओं द्वारा संचालित किए जाएंगे। यहां के 11 बूथ यूनिक कैटेगरी में हैं।

दुमका लोकसभा से शिबू सोरेन की बड़ी बहू सीता सोरेन को बीजेपी ने प्रत्याशी घोषित किया है। उनका मुकाबला जेएमएम के विधायक नलिन सोरेन से होगा। इनके साथ ही दुमका लोकसभा सीट के लिए कुल 19 प्रत्याशी मैदान में हैं।

Tags:

Latest Updates