चंद्रप्रकाश चौधरी

मंत्री नहीं बनने पर नाराज़ हो गए गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी

,

Share:

गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से दूसरी बार चुनाव जीतकर सांसद बने चंद्रप्रकाश चौधरी इन दिनों नाराज चल रहे हैं। वह आजसू के टिकट पर चुनाव लड़कर सांसद बने हैं, लेकिन मोदी कैबिनेट में उन्हें जगह नहीं दी गई है। इस बात से चंद्रप्रकाश चौधरी काफी नाराज हैं और उन्होंने कहा है कि एनडीए के घटक दलों की बैठक में सभी को उचित प्रतिनिधित्व देने की बात कही गई थी, लेकिन मंत्रिमंडल में आजसू पार्टी को दरकिनार कर दिया गया है।

चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा है कि गठबंधन धर्म के तहत सभी दल को सम्मान मिलना चाहिए और पार्टी स्तर पर हम सभी इस मामले पर विचार कर आगे की रणनीति तय करेंगे। उन्होंने कहा कि मुझे लगातार अपने शुभ चिंतकों के फोन आ रहे हैं, जो मुझसे जानना चाह रहे हैं कि मीडिया में मेरा नाम चलता रहा, फिर मेरे नाम को कैसे ड्रॉप किया गया। हालांकि इस मामले में आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है।

चंद्रप्रकाश चौधरी का कहना है कि आजसू पार्टी के लिए यह एक बड़ा झटका है, क्योंकि पार्टी ने मोदी कैबिनेट में जगह नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि पार्टी स्तर पर हम सभी इस मामले पर विचार कर आगे की रणनीति तय करेंगे और सभी दल को सम्मान मिलना चाहिए। चंद्रप्रकाश चौधरी का कहना है कि मीडिया में मेरा नाम चलता रहा, फिर मेरे नाम को कैसे ड्रॉप किया गया है। हालांकि इस मामले में आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है.

वहीँ, झामुमो के केंद्रीय महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने रविवार को दिल्ली में हुई शपथ ग्रहण समारोह में झारखंड की उपेक्षा करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि झारखंड को मंत्री मंडल में उचित हिस्सेदारी नहीं मिली. उन्होंने रांची सांसद संजय सेठ के ऊपर सवाल उठाते हुए कहा कि ऐसे सांसद को मंत्री बनाया गया जिन्होंने बंद पड़ी एचईसी पर एक सवाल नहीं उठाया.

सुप्रियो भट्टाचार्य ने बीजेपी पर आजसू की अनदेखी व अनादर करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि एक-एक पार्टी के सांसदों को मंत्री पद दिया गया लेकिन आजसू के चंद्र प्रकाश चौधरी को मंत्री पद से वंचित रखा गया. उन्होंने कहा कि आजसू बीजेपी का पुराना सहयोगी है, स्थानीय पार्टी है लेकिन उन्हें मंत्री पद नहीं दिया गया.

Tags:

Latest Updates