बोकारो स्टील प्लांट की गैस पाइप लाइन में लगी आग, धुआँ निकलने से मची अफरातफरी

, ,

Share:

Ranchi : बोकारो स्टील प्लांट की गैस पाइप लाइन में अचानक आग लग जाने और धुएं का गुब्बार निकलने की घटना के बाद प्लांट में चौतरफा अफरातफरी मच गई। आनन फानन में सीआईएसएफ के सुरक्षा कर्मियों ने प्लांट गेट खोल दिया और अन्दर काम कर रहे कर्मचारी बाहर भागने लगे.

घटना शनिवार सुबह की है. हादसे के बाद पूरे शहर और आसपास के इलाके में अफवाहों का बाजार गर्म हो गया. हालांकि, इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. घटना के तुरंत बाद सीआईएसएफ और अग्निशमन विभाग के दस्ते ने आग पर काबू पा लिया.

घटना की सूचना मिलते ही बोकारो स्टील प्लांट के अधिशासी निदेशक (संकार्य) बी के तिवारी भी घटनास्थल पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. इधर, बोकारो स्टील प्लांट के प्रमुख, संचार मणिकांत धान ने बताया कि प्लांट के मिक्स्ड गैस पाइप लाइन, जिससे हॉट स्ट्रिप मिल के री हीटिंग फ़रनेस में गैस सप्लाई की जाती है, उसमें आज सुबह पहले से ही तय प्रोग्राम के अनुसार मेंटेनस का काम चल रहा था.

पाइप लाइन बंद थी और इसमें कोई गैस नहीं थी।मेंटेनस के तहत एक Compensator भी चेंज किया जाना था, जिसके लिए पाइप लाइन में कटिंग एवं वेल्डिंग का काम हो रहा था. वेल्डिंग से निकलने वाली चिंगारी से पाइप लाइन के अंदर जमा (Naptha Sulphur) इत्यादि जो ज्वलनशील होता है, उसमें आग लग गई और काफ़ी धुआँ निकल आया, जो पाइप लाइन के माध्यम से हॉट स्ट्रिप मिल तक फ़ैल गया. इसके कारण थोड़े समय के लिए अफरा तफरी हुई.

उन्होंने बताया कि पाइप लाइन से किसी प्रकार के गैस की लीकेज नहीं हुई है और कोई घबराने की बात नहीं है. आग बुझा दी गई है।हमारे वरीय अधिकारी पर स्वयं हैं. उन्होंने यह भी बताया कि गैस एनालाईज़र मशीन द्वारा भी जाँच में भी कोई गैस लीकेज नहीं मिला है.

उपायुक्त श्रीमती विजया जाधव के अनुसार 10 लोग अस्पताल में भर्ती हैं, जिनका इलाज चल रहा है. डीडीसी और मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी वहाँ मौजूद हैं. प्लांट के वरीय अधिकारी घटनास्थल पर तैनात हैं. सीआईएसएफ और फायर ब्रिगेड को सतर्क रखा गया है. प्रबंधन से घटना की रिपोर्ट मांगी गई है. जिला प्रशासन अलर्ट है. घबराने की कोई बात नहीं है.

बोकारो जनरल अस्पताल द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा गया है कि बोकारो इस्पात संयंत्र में धुंएँ के संपर्क में आए कुल 21 कर्मचारी, जिनमें कुछ संविदा कर्मी भी शामिल है, उन्हें एहतियात के तौर पर ऑब्ज़र्वेशन हेतु अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी स्थिति सामान्य और स्टेबल है और चिकित्सक लगातार इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

Tags:

Latest Updates