लोकसभा चुनाव

लोकसभा चुनाव: स्ट्रांग रूम में रखे EVM की दिन-रात रखवाली क्यों कर रही हैं यशस्विनी सहाय

,

Share:

लोकसभा आम चुनाव- 2024 का अंतिम चरण अब शुरू होने वाला है। 01 जून को झारखंड के तीन लोकसभा क्षेत्रों – राजमहल, गोड्डा और दुमका में मतदान होगा। इसके बाद 04 जून को मतगणना का कार्य किया जाएगा। रांची लोकसभा सीट के लिए मतदान का कार्य 25 मई को समाप्त हो गया है और EVM को कृषि बाजार समिति स्थित मतदान केंद्र के स्ट्रांग रूम में रखा गया है।

 स्ट्रांग रूम की सुरक्षा व्यवस्था

स्ट्रांग रूम की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था प्रशासन द्वारा की गई है। बावजूद इसके, कांग्रेस कोई जोखिम नहीं ले रही है। कांग्रेस के प्रत्याशी यशस्विनी सहाय की ओर से पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने मत पड़े EVM की सुरक्षा के लिए अपने आदमी भी स्ट्रांग रूम के बाहर लगा रखे हैं।

 स्ट्रांग रूम की लाइव तस्वीरें

जिला निर्वाचन पदाधिकारी और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के निर्देश पर, रांची लोकसभा क्षेत्र के मतगणना केंद्र पर त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। स्ट्रांग रूम के बाहर लगे CCTV से एक बड़े हॉल में लगे LED स्क्रीन पर लाइव तस्वीरें दिखाई जाती हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी नेता सुबोधकांत सहाय ने इसी हॉल में अपने लोगों को EVM की निगरानी में लगा रखा है।

 कांग्रेस की EVM रखवाली

ईटीवी भारत की टीम ने जब इस हॉल का जायजा लिया तो यहां पर EVM की रखवाली करते कांग्रेस के दो प्रतिनिधि मिले। उन्होंने बताया कि कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कुल पांच लोगों को ईवीएम की रखवाली के लिए लगाया गया है।

 कांग्रेस का रुख

इस सवाल के जवाब में कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सोनाल शांति उर्फ रिंकू तिवारी कहते हैं कि भले ही राज्य में महागठबंधन की सरकार हो, लेकिन चुनाव के समय में परोक्ष रूप से सत्ता एक संवैधानिक संस्था के हाथ में होती है। ऐसे में जिस तरह के बयानबाजी भाजपा के नेता करते रहे हैं और सत्ता को अपने पास रखने के लिए ये लोग कुछ भी कर सकते हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि EVM को लेकर खुद सतर्क और सावधान रहा जाए, इसलिए रांची लोकसभा सीट पर पड़े वोटों की रखवाली में कांग्रेस ने अपने लोगों को स्ट्रांग रूम के बाहर लगा रखे हैं। उन्होंने कहा कि 04 जून यानी मतगणना वाले दिन तक कांग्रेस EVM की रखवाली अपने स्तर से भी करते रहेगी।

 मतगणना की तैयारियां

जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार रांची लोकसभा सीट के लिए हुए मतदान के मतों की गिनती का काम 04 जून को पंडरा स्थित मतगणना स्थल पर होगा। रांची लोकसभा क्षेत्र में पड़ने वाले अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों के लिए अलग-अलग टेबल बनाये जायेंगे। कांके के लिए 29, ईचागढ़ के लिए 20, सिल्ली के लिए 16, रांची के लिए 24, खिजरी के लिए 24, हटिया के लिए 26 और पोस्टल बैलेट की गणना के लिए 20 टेबल बनाये जायेंगे। कुल मिलाकर 139 टेबल पर मतों की गणना होगी और हर टेबल पर तीन मतगणना कर्मी होंगे।

कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि मतदान के दिन तक वह EVM की रखवाली करता रहेगा, क्योंकि उन्हें भाजपा और उनके नेताओं पर कोई भरोसा नहीं रह गया है।

Tags:

Latest Updates