कांग्रेस प्रत्याशी सुखदेव भगत ने बताया भाजपा में शामिल होने की वजह

, ,

Share:

Ranchi : 19 साल का लंबा राजनीतिक करियर में सुखदेव भगत ने विधायक से लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष तक की जिम्मेदारी संभाली है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे. लेकिन जनवरी 2022 में सुखदेव भगत कांग्रेस में फिर लौट आए थे। इस बार कांग्रेस ने लोहरदगा लोकसभा क्षेत्र से सुखदेव भगत को उम्मीदवार बनाया है।

लेकिन अब सुखदेव भगत ने ये बताया है कि आखिर उन्होंने भाजपा क्यों ज्वाइन किया था. उन्होंने कहा कि,
मैं समझता हूं कि कभी- कभी कुछ चीजें रणनीति का हिस्सा होती हैं। मैंने अपने दायित्व को निभाया। मैं उसमें सफल हुआ और आज यह जो सरकार चल रही है, उसमें मेरी एक भूमिका रही है। इस राज को राज ही रहने दिया जाए। मैं एक बात बता रहा हूं, जब चुनाव हुआ था तो 56 सीट पर आजसू- भाजपा गठबंधन ने बढ़त हासिल की थी। एक कांग्रेसी होने के नाते मुझे काफी चीजें समझ में आईं।

कांग्रेस प्रत्याशी सुखदेव भगत ने कहा कि यह चुनाव काफी महत्वपूर्ण है. बेरोजगारी, सिंचाई की समस्या, किसानों की समस्या, महंगाई, भ्रष्टाचार समेत अन्य मुद्दों पर कांग्रेस पार्टी ने जो लड़ाई शुरू की है. राहुल गांधी ने जो यात्राएं की हैं, वह उन सभी विषयों को साथ लेकर चुनाव मैदान में होंगे. वह महागठबंधन के उम्मीदवार हैं. सभी दलों के साथ मिलकर वे यहां जरूर जीतेंगे. सुखदेव भगत ने कहा कि यह चुनाव तानाशाही सरकार के खिलाफ चुनाव है. जनता इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी का साथ देगी.

गौरतलब है किचमरा लिंडा के निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने की अटकलों पर मार्च महीने में सुखदेव भगत ने कहा था कि यहां आदिवासियों की पहचान को लेकर भी लड़ाई है. ऐसे में उनका मानना है कि चमरा लिंडा एक सुलझे हुए नेता हैं. वे आदिवासियों के वोटों को बांटने के लिए कुछ भी नहीं करेंगे. वह अनुशासन दिखाएंगे और निश्चित रूप से कांग्रेस पार्टी को यहां जीत दिलाने में मदद करेंगे.

सुखदेव भगत खुद भी चमरा लिंडा से बात कर पार्टी को चुनाव में जीत दिलाने को लेकर पहल करने की बात कही है. इसके अलावा भी कई महत्वपूर्ण बातों पर सुखदेव भगत ने खुलकर अपने विचार रखे.

लोहरदगा लोकसभा सीट से कांग्रेस पार्टी द्वारा उम्मीदवार घोषित किये जाने के बाद सुखदेव भगत ने चुनाव को लेकर कई अहम बातें कही हैं. उन्होंने पार्टी के उद्देश्यों, चमरा लिंडा के चुनाव मैदान में होने और महागठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव में जीत को लेकर स्थिति को लेकर भी काफी कुछ कहा है.

Tags:

Latest Updates