हत्याकांड

रांची बार हत्याकांड मामले में हुई बड़ी कार्रवाई, थानेदार सहित तीन पुलिसकर्मी सस्पेंड

Share:

रांची के चुटिया थाना क्षेत्र के सुजाता चौक के समीप एक्सट्रीम बार में डीजे संदीप उर्फ सैंडी को गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार होने के मामले में लापरवाह पुलिसवालों पर बड़ी कार्रवाई हुई है. जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद चुटिया थानेदार सहित तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है.

सिटी डीएसपी की रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई

एक्सट्रीम बार गोलीबारी मामले में पुलिस की लापरवाही की जांच का जिम्मा सिटी डीएसपी को दिया गया था. सिटी डीएसपी ने अपनी रिपोर्ट एसएसपी को सौंप दी थी. रिपोर्ट के आधार पर एसएसपी चंदन कुमार सिन्हा ने चुटिया थानेदार और अरगोड़ा थाने की गश्ती में तैनात पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया है.

डीआईजी और एसएसपी ने की कार्रवाई

इससे पूर्व एसएसपी ने शोकॉज कर पुलिसकर्मियों से तीन दिन के भीतर एक्सट्रीम बार हत्याकांड मामले में लापरवाही बरतने पर जवाब मांगा था. एसएसपी की रिपोर्ट पर रांची डीआईजी ने चुटिया थानेदार उमाशंकर को सस्पेंड किया है. वहीं बाकी पुलिसकर्मियों को एसएसपी ने सस्पेंड किया है.

डीएसपी की रिपोर्ट में थानेदार और गश्ती दल पर लापरवाही बरतने का आरोप

एक्सट्रीम बार में मारपीट और हत्या के बाद आरोपी के फरार होने में पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई थी. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने सिटी डीएसपी को जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया था. जानकारी के अनुसार डीएसपी की रिपोर्ट में यह बताया गया है कि चुटिया थानेदार और अरगोड़ा थाने की गश्ती पुलिस ने लापरवाही बरती है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि एक्सट्रीम बार में मारपीट की घटना की जानकारी मिलने के बाद भी चुटिया थानेदार घटना स्थल पर नहीं पहुंचे थे. उस वक्त सिर्फ थानेदार का बॉडीगार्ड घायल व्यक्ति को उठाकर थाना ले गया था. इसके बाद थानेदार के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई. यहां तक कि न तो गश्ती पुलिस को बार के बाहर तैनात किया गया और न ही पीसीआर पुलिस को.

गश्ती दल ने नहीं किया आरोपी का पीछा, न ही वरीय अधिकारी को दी सूचना

वहीं अरगोड़ा की गश्ती पुलिस ने हत्या के बाद मौके पर पहुंची थी, लेकिन हत्यारे को पकड़ने के लिए उसका पीछा तक नहीं किया. गश्ती में तैनात पुलिसकर्मियों ने अपने वरीय अधिकारियों और वायरलेस पर भी सूचना नहीं नही दी. अगर समय पर पुलिसकर्मियों ने इसकी सूचना दी होती तो कुछ ही घंटे में आरोपी पकड़ा जाता.

 

Tags:

Latest Updates