आलमगीर आलम

आलमगीर आलम की मुश्किलें बढ़ती जा रही है, ED अब अवैध खनन घोटाले में भी भूमिका तालाश रही है

, ,

Share:

Ranchi : आलमगीर आलम की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है. साहिबगंज में 1250 करोड़ के अवैध पत्थर खनन मामले में भी ईडी के अधिकारियों की टीम अब मंत्री आलमगीर आलम की भूमिका तलाश रही है पूरा मामला बड़हरवा टोल प्लाजा टेंडर विवाद मामले से जुड़ा है.

इसी मामले के जांच के क्रम में ईडी ने साहिबगंज में 1250 करोड़ के अवैध पत्थर खनन घोटाले का खुलासा किया था.

बड़हरवा में टोल प्लाजा टेंडर विवाद में मारपीट का मामला 22 जून 2020 का है, जिसमें मंत्री आलमगीर आलम, तत्कालीन मुख्यमंत्री के बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा व अन्य के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

बड़हरवा टोल प्लाजा के टेंडर में मंत्री आलमगीर आलम के भाई ने भी टेंडर भरा था. दर्ज प्राथमिकी में महज 24 घंटे के भीतर बिना पूरी जांच के ही तत्कालीन डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा ने मंत्री आलमगीर आलम व विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को क्लीन चिट दे दी थी.

टेंडर कमीशन घोटाले की जांच कर रही ईडी ने उस केस को भी अपनी जांच में रखा है, जिसमें आलमगीर आलम की भूमिका टेंडर कमीशन के साथ-साथ अवैध खनन मामले में भी कर रही है. फिलहाल, ईडी की जांट जारी है.

Tags:

Latest Updates